sayariadda.xyz

Music

[Music][recentbylabel]

Saturday, October 16, 2021

Nafrat shayari | Nafrat shayari in hindi | Nafrat shayari Image

 Nafrat shayari | Nafrat shayari in hindi | Nafrat shayari Image

Hello doston Aaj ham log Baat Karne Wale Hain Nafrat shayari | Nafrat shayari in hindi | Nafrat shayari Image Ke bare mein.  yah shayari aap apne status Per lagakar yah  dikha sakte hain ki aap unse Nafrat Karte Hain.


Ummid karta hun aap Logon Ko Nafrat shayari | Nafrat shayari in hindi | Nafrat shayari Image Pasand Aaegi.  Pasand Aaye To apne friend ke sath Jarur share Karen dhanyvad doston.


नफ़रत का क्या मतलब होता है?

किसी व्यक्ति या वस्तु के प्रति होने वाली इतनी विरक्ति कि उसे देखना भी असह्य हो; घृणाघिन 2. अरुचि

Nafrat shayari

तुम नफरत का धरना कयामत तक जारी रखो,
मैं प्यार का इस्तीफा जिंदगी भर नहीं दूंगा।

नफरतों के जहां में हमको प्यार की बस्तियां बसानी हैं,
दूर रहना कोई कमाल नहीं, पास आओ तो कोई बात बने।

महोब्बत और नफरत सब मिल चुके हैं मुझे,
मैं अब तकरीबन मुकम्मल हो चुका हूँ।

मोहब्बत करने से फुरसत नहीं मिली दोस्तो...
वरना हम करके बताते नफरत किसको कहते हैं।

जब नफरत करते करते थक जाओ,
तब एक मौका प्यार को भी देना।

Nafrat shayari
Nafrat shayari

Nafrat shayari in hindi

नफरत करना सबके बस की बात नहीं जनाब,
जिन्दगी भर तो छोड़ो, नफरत करनी तो पल भर भी आसान नहीं !!

दिल है की मानता नहीं,
नफरत करने की बजाय प्यार करने की वजह ढूंढ़ता रहता है !!


उसे नफरत से क्या डराओगे,
जिसे मोहब्बत से ज्यादा नफरत ही मिली हो !!

मोहब्बत करने से फ़ुरसत नहीं मिली दोस्तो…
वरना हम करके बताते नफरत किसको कहते हैं.. !!

एक पल तो घायल दिल कहता है की नफरत कर,
दूसरे ही पल कमजोर दिल कहता है, की प्यार कर.. !!


Nafrat shayari in hindi
Nafrat shayari in hindi

Nafrat shayari Image

Nafrat shayari 2 Line

हाँ मुझे रस्म ए मोहब्बत का सलीक़ा ही नही
जा किसी और का होने की इजाज़त है तुझे !

नफ़रत हो जायेगी तुझे अपने ही किरदार से
अगर मै तेरे ही अंदाज मे तुझसे बात करुं !

चाह कर भी मुँह फेर नही पा रहे हो
नफरत करते हो या इश्क निभा रहे हो !

इश्क़ या खुदा को दिल मे बसा लो दिल से
नफरत हमेशा के लिए खत्म हो जायेगी !

किसी ने मुझसे पूछा तुम्हारा शौक क्या है मैने हंस
कर कहा नफरत करने वालो से मोहब्बत करना !


Nafrat shayari 2 line
Nafrat shayari 2 line

Nafrat shayari for boyfriend

वो इंकार करते हैं इकरार के लिए,
नफरत करते हैं तो प्यार के लिए,
उलटी चाल चलते हैं यह प्यार वाले,
आँखें बंद करते हैं दीदार के लिए…!!

जीते थे कभी हम भी शान से,
महक उठी थी फ़िज़ा किसी के नाम से,
पर गुज़रे हैं हम कुछ ऐसे मुकाम से,
की नफरत से हो गई है मोहब्बत के नाम से..!!

ज्यादा कुछ नहीं बदला हमारे बीच में
पहले नफरत नहीं थी, अब प्यार नहीं है

उसे नफ़रत से क्या डराओगे ?
जिससे मोहब्बत से ज्यादा नफरत ही मिली हो

नहीं हो अब तुम हिस्सा, मेरी किसी हसरत के
तुम क़ाबिल हो तो सिर्फ मेरी नफरत के


Nafrat shayari for Boyfriend
Nafrat shayari for Boyfriend

Nafrat shayari in English


Nafrat ki jagha hum mohabbat kaise laye,
Tumhi batao tumhari bewafai ko or kitna bhulaye,
Koi mujhse puchle ager mere aansuo ki wajha
To tumhi batao usse hum kya bataye.

Kash ye din aaya na hota,
Mujhe chhod tu kisi or ko paas laya na hota,
Na hoti tujhse nafrat mujhe itni
Agar tune yu dil dukhaya na hota.
I Hate You

Nafrat si ho gai mujhe khud se,
Pagal the jo kar baithe the pyar tujhse,
Pata hota ki tum pyar me bhi rang badalte ho
To kabhi nazrein bhi na milate tujhse.
I Hate You

Dil me baandh li mein ek ganth nafrat ki,
Tu kaabil hi nhi dil ke mere,
Beech raah me tu kisi or ka ho gaya
To kya chale ga zindagi bhar sath mere.

Mohabbat ke badle kya inaam diya tumne,
Kisi or ke hone ke liye hume bhula diya tumne,
Chalo jo hoa so hua ab lout ke na aana fir
Kyoki tere liye ab dil me nafrat bhar li humne.


Thursday, October 14, 2021

मुझे गलत मत समझना शायरी | Mujhe galat mat samajhna shayari

 मुझे गलत मत समझना शायरी | Mujhe galat mat samajhna shayari


Hello doston Aaj ham log baat karne wale मुझे गलत मत समझना शायरी | Mujhe galat mat samajhna shayari ke bare mein. In shayari ko aap waha per use kar sakte ho Jahan per aap ko batana Ho ki aapki koi Galti Nahin Hai.


Ummid karta hun aap logon मुझे गलत मत समझना शायरी | Mujhe galat mat samajhna shayari Pasand Hogi. Pasand aayi ho to apne friend ke sath  share Jarur Karen. Dhanyvad doston


मुझे गलत मत समझना शायरी



मुझे गलत मत समझना
गलती करता यह दिल नहीं है,
बेवफा तेरा मासूम चेहरा
भूल जाने के काबिल नहीं है।

हमने भी छोड़ दिया, उसका इंतज़ार करना हमेशा के लिए,
जिसे हमारी निग़ाह की कदर ही न हो, उसे मुड़ मुड़ के क्या देखना।

मैं चुप रहा और गलतफहमियां बढती गयी,
उसने वो भी सुना जो मैंने कभी कहा ही नहीं।

चुपके से ले कर नाम तेरा गुज़ार देंगे ये ज़िंदगी ,
बता देंगे ज़माने को प्यार ऐसे भी होता है।

वो अल्फ़ाज़ ही क्या,जो समझाने पड़े
हमने मोहब्बत की है, कोई वकालत नही।


मुझे गलत मत समझना शायरी
मुझे गलत मत समझना शायरी

मुझे गलत मत समझना शायरी हिंदी

हर आदमी अब शक के घेरे में है,
इंसानियत का वजूद अब अँधेरे में है.

शक नही तेरे लिए बस प्यार भरा है,
तुझे खो न दूँ बस इसलिए ये दिल डरा है।


तुम्हारे होगें चाहने वाले बहुत इस कायनात में,
मगर इस पागल की तो कायनात ही तुम हो.

खामोश रहने पर भी उसे हो जाती थी फिक्र मेरी,
अब तो आंसू बहाने पर भी कोई जिक्र नहीं होता।

यूँ तो मोहब्बत की सारी हकीक़त से वाकिफ है हम,
पर उसे देखा तो सोचा चलो ज़िन्दगी बर्बाद कर ही लेते है।


मुझे गलत मत समझना शायरी
मुझे गलत मत समझना शायरी

Mujhe galat mat samajhna shayari

आज तेरी याद हम सीने से लगा कर रोये ..
तन्हाई मैं तुझे हम पास बुला कर रोये
कई बार पुकारा इस दिल मैं तुम्हें
और हर बार तुम्हें ना पाकर हम रोये

तन्हाई ना पाए कोई साथ के बाद,
जुदाई ना पाए कोई मुलाकात के बाद,
ना पड़े किसी को किसी की आदात इतनी,
कि हर सांस भी आए उसकी याद के बाद..

आसुओ को पलकों में लाया न कीजिये,
दिल की बात हर किसी को बताया न कीजिये,
मुट्ठी में नमक लेकर गुमते है लोग,
अपने ज़ख़्म हर किसी को दिखाया न कीजिये..

तुमको हम दिल में बसा लेंगे,तुम आओ तो सही
सारी दुनिया से छुपा लेंगे, तुम आओ तो सही

एक वादा करो अब हमसे ना बिछड़ोगे कभी
नाज़ हम सारे उठा लेंगे, तुम आओ तो सही


मुझे गलत मत समझना शायरी
मुझे गलत मत समझना शायरी

Mujhe galat mat samajhna shayari in Hindi

मेरे लवो को छु कर यूँ बहकाया ना करो,
मेरे सपनो में आकर इश्क महकाया ना करो।

तू बन जा मेरी इस कदर चाहूँगा तुझे की.
लोग दुआ करेगे की तुझसा नसीब हो हर किसी की।

जब भी हो थोड़ी फुरसत , मन की बात कह दीजिये,
बहुत ख़ामोश रिश्ते , ज़्यादा दिनों तक ज़िंदा नहीं रहते।

तुम्हें जब कभी मिले फ़ुरसतें मेरे दिल से बोझ उतार दो,
मैं बहुत दिनों से उदास हूँ मुझे कोई शाम उधार दो…!!

कौन मेरी चाहतोँ का फसाना समझेगा इस दौर मेँ,
यहाँ तो लोग अपनी जरुरत को मोहब्बत कहते हैँ।


मुझे गलत मत समझना शायरी
मुझे गलत मत समझना शायरी

मुझे गलत मत समझना शायरी हिंदी में

इन शोहरतों में आ कर हम और तनहा हो गए,
तेरी यादें आते आते जाने कहाँ चली जाती है।

टूट कर बिखर जाते है वो लोग मिटटी की दीवारों की तरह
जो खुद से भी जादा किसी और से मोहबत किया करते है..!

फिर कोई जख्म मिलेगा तैयार रह ऐ दिल,
कुछ लोग फिर पेश आ रहे हैँ बहुत प्यार से।

ख़ामोशी से मुसीबत और भी संगीन होती है,
तड़प ऐ दिल तड़पने से ज़रा तस्कीन होती है।

दुनिया लाख खूबसूरत हो मगर फिर भी,
तेरा ख़याल दिलकशीं है मेरे लिये।


मुझे गलत मत समझना शायरी
मुझे गलत मत समझना शायरी


You Can Also Read

↡ ↡ ↡ ↡ ↡ ↡ ↡ ↡ ↡ ↡ ↡ ↡ ↡ ↡ ↡ ↡ ↡ ↡ ↡ ↡ ↡ ↡


Monday, October 11, 2021

dussehra shayari in hindi | dussehra shayari 2021

 dussehra shayari in hindi | dussehra shayari 2021

Hello doston aaj hum log baat karne wale dussehra shayari ke bare mein dussehra shayari in hindi | dussehra shayari 2021 Ummid karta hun aap Logon Ko Pasand Aaegi.


Agar aap Logon Ko shayari pasand hai tu apne friend Logon ke sath share Jarur Karen dhanyvad doston.

dussehra-shayari-in-hindi
dussehra shayari in hindi


Dussehra shayari


बुराई को खुद से और इस देश से दूर भगाओ, अच्छाई को अपने जीवन में अपनाओ। रावण को जलाओ और भ्रष्टाचार मिटाओ, प्रगति के पथ पर भारत देश को आगे बढ़ाओ। शुभ दशहरा 2021 कभी भी दुःख का आप पर पड़े ना साया, राम जी के नाम का ऐसा असर हैं छाया। हर पल धन धन्य आये आपके अंगना, हैं वियजदशमी पर मेरी यही मनोकामना। दशहरे का पावन पर्व सत्य की जीत का सन्देश दे रहा हैं, बुराई का दशानन अच्छाई की अग्नि में विध्वंस हो रहा हैं, प्रभु श्रीराम के आचरण और इस पर्व के सन्देश को अपनाएँ। इसी के साथ दशहरा पर्व की हजारो-हजार शुभकामनायें। रावण के संहार पर दशहरा, अयोध्या वापसी पर मनाते दिवाली हैं। दुनिया सारे गुण उनके गाती, मेरे श्री राम की हर बात निराली हैं। शान्ति अमन के इस देश से अब बुराई को मिटाना होगा आतंकी रावण का दहन करने आज फिर श्री राम को आना होगा


Dussehra shayari in hindi


अधर्म पर धर्म की जीत,
अन्याए पर न्याय की विजय।
बुराई पर अच्छाई की जय जय कार
यही है दशहरे का त्यौहार।

कभी भी दुःख का आप पर पड़े ना साया,
राम जी के नाम का ऐसा असर हैं छाया।
हर पल धन धन्य आये आपके अंगना,
हैं वियजदशमी पर मेरी यही मनोकामना।

बुराई का रूप अब भ्रष्टाचार हैं,
रावण के रूप में नेताओं का अत्याचार हैं।
देश रुपी इस लंका में कौन राम बनेगा,
यंहा तो अब बस मिलावटी व्यवहार हैं।


जैसे श्री राम ने जीता लंका को,
वैसे अप भी जीतें सारी दुनिया।
इस दशहरे मिल जायें आप को
दुनिया भर की सारी खुशिया।

करने बुराई का नाश,
जगाने दिलों में अच्छाई का एहसास।
प्रेम और सत्य की राह दिखने,
आ गया हैं दशहरे का त्यौहार..।।

Dussehra shayari 2021


खुशी आप के कदम चूमे
कभी ना हो दुखों का सामना,
धन ही धन आए आप के आँगन,
दशहरा के शुभ अवसर पर
हमारी है यही मनोकामना..।।

आप सभी को रामनवमी एवं दशहरा के
पावन पर्व की हार्दिक शुभकामनाएँ।
मैं ईश्वर से प्रार्थना करता हूँ कि आप व
आपका परिवार सदैव सुख समृद्ध खुशहाल रहे।

आज की नई सुबह इतनी सुहानी हो जाए,
आपके दुखों की सारी बातें पुरानी हो जाएं,
दे जाए इतनी खुशियां ये दशहरा आपको,
कि ख़ुशी भी आपके मुस्कुराहट की दीवानी हो जाएं।

Happy Dasara

राक्षस पे पुण्य की जीत
राम की सीता से असीमित प्रीत
ये तो एक कारण भर ही था..
हो विजय सत्य की सदैव यही है रीत।

आज दशहरे का दिन आया,
असत्य पर सत्य ने जीत पाया,
रामचंद्र जी ने रावण को हराया,
नीति का पूरी दुनिया को एक पाठ पढ़ाया.

Dussehra shayari in hindi 2021


अधर्म पर धर्म की सदा जीत हो,
अन्याय पर न्याय को मिले विजय,
ह्रदय से हो श्री राम का जय-जयकार
यही हैं दशहरे का त्योंहार.
विश यू हैप्पी दशहरा

आज दशहरे का दिन आया,
असत्य पर सत्य ने जीत पाया,
रामचंद्र जी ने रावण को हराया,
नीति का पूरी दुनिया को एक पाठ पढ़ाया.
दशहरा की हार्दिक शुभकामनाएँ तहे दिल से

बुराई का होता हैं विनाश,
दशहरा लाता है उम्मीदों की आस,
हर व्यक्ति के अंदर की बुराई का हो नाश,
आपके घर में ईश्वर का सदा वास.
दशहरे की हार्दिक बधाई !!!

24.दशहरा एक उम्मीद जगाता है,
बुराई के अंत की याद दिलाता है,
जो चलता है सत्य की राह पर
वो विजय का प्रतीक बन जाता हैं.

27.दशहरा का ये प्यारा त्यौहार,
जीवन में लाये खुशिया अपार,
श्री राम जी करे आपके घर सुख की बरसात
शुभ कामना हमारी करे स्वीकार…!!

Wish you Very Happy Dussehra


Conclusion :- aaj hum logon ne baat hai dussehra shayari ke bare mein dussehra shayari in hindi | dussehra shayari 2021 Ummid karta hun aap Logon Ko Pasand Aaegi.

Tuesday, October 5, 2021

Brahman Shayari | 80+ Brahman Shayari in Hindi with Image

Brahman Shayari | 80+ Brahman Shayari in Hindi with Image

Brahman Shayari | 80+ Brahman Shayari in Hindi with Image


दोस्तों इस पोस्ट मे हम आपको स्पेशल Brahman Shayari पढ़ाने जा रहे जोकी आपको बहुत ज्यादा पसंद आएगी अगर आप ब्राह्मण हो तो फिर आप सही जगह आए हो। क्योंकि आप भी गूगल पर बहुत बार Brahman Shayari सर्च कर चुके होंगे लेकिन आपको कही भी अच्छी और बढ़िया Brahman Shayari पढ़ाने को नहीं मिली होगी।

इस लिए आइए आज आप इस Brahman Shayari को पढिए और फिर इन सभी शायरी को आप अपने सोशल मीडिया पर स्टैटस या फिर आप इन सभी शायरी को अपने किसी भी फ्रेंड या परिवार के सदस्य को भेजने के लिए इस्तेमाल कर सकते है।

इस लिए आइए पढिए हमारे साथ इन सभी ब्राह्मण शायरी को और फिर इन सभी Brahman Shayari को भेजिए अपने उन दोस्तों को जो आपकी कदर नहीं करते ताकि उनको भी आपके ब्राह्मण होने का महत्व पता चाल सके।

 

Brahman Shayari in Hindi

अब आइए पढिए हमारे साथ यह Brahman Shayari in Hindi को और फिर इन सभी Brahman Shayari को अपने दोस्तों को शेयर करके उनको भी पढिए ताकि वो भी इन सभी शायरी को पढे और आपका महत्व समझे।

 

Brahmin की ताकत से पूरा ब्रह्ममाड डोलता हैं,

ये हम नहीं हमारा इतिहास बोलता हैं.,

 

जंगल में शेर और रस्ते में Brahmin से बचकर रहना,

क्युकी शेर सिर्फ फाड़ते हैं,

और Brahmin ज़िंदा गाड़ते हैं.,

 

झुंड मे रहने वालो आजमा कर देखना,

कभी हमारी छाती पर फौलाद भी पिघलता है.,

 

तेरी क्या मिशाल जो हमसे टकराये,

अच्छे अच्छो को हमने औकात दिखाई है,

जब बात शान पे आती है तो हम मौत से भी ना घबराये.,

 

ब्राह्मण है हम हमारे खून में भी दिलेरी है,

तू क्यों दिक्क़त ले री है,

हमको कोई हाँथ भी लगा दे.,

 

Brahman Shayari

 

ब्राह्मण हैं हम दुश्मन का दुश्मन कहलाए जाते हैं,

बेटा दूर रही हो तुम हमसे,

हम परशुराम भक्त कहलाये.,

 

मत मार नजर के तीर छोरी,
तुझे बामण का उठा ले जाएगा.,

 

ख्वाहिश नहीं मुझे मशहूर होने की,
आप मुझे पहचानते हो बस इतना ही काफी है.,

 

मर सकता हूं मगर झुकना नहीं है मंजूर मुझे,
हां मैं ब्राह्मण हूं इस बात का है गुरूर मुझे.,

 

पंडित जैसा प्यार और पंडित जैसा यार,
हर किसी के नसीब में नहीं होता है बावड़ी.,

 

Crying Shayari | 50+ Crying Status for Whatsapp in Hindi

 

रावण भी बनना कहां आसान है,
सीता जिन्दी मिली यह राम की ताकत थी,
सीता पवित्र मिली यह रावण की मर्यादा थी.,

 

ब्राह्मण मचलते हैं, तो देश मचल जाता है,
ब्राह्मण बिगड़ते हैं तो भूचाल आ जाता है,
ना करो कोशिश ब्राह्मण को बदलने की,
क्योंकि ब्राह्मण बदलते हैं तो इतिहास बदल जाता है.,

 

कहानी तो छोटे लोगो की लिखी जाती है,
ब्राह्मणों का तो इतिहास लिखा जाता है.,

 

 रानी नहीं है तो क्या हुआ,
यह पंडित आज भी लाखो दिलो पर राज करता है.,

 

 माफ़ किया तुझे जा जी ले अपनी ज़िन्दगी,
हम पंडित बेवफाओ के मुह नहीं लगते.,

 

Brahman Shayari

 

 ब्राह्मण भूखा तो सुदामा, ज्ञानी तो चाणक्य,
अभिमानी तो रावण और रूठा तो परशुराम.,

 

गुरु है वो करण के,
अंतर जाने आनंत और मरण के,
नमन करता सारा संसार जिसे,
बने जल भी अमृत उनके चरण के,
हैप्पी परशुराम जयंती.,

 

अपने कुल का मान करे, यह कर्तव्य हमारा है,
सभी का सम्मान करे, यही है हमारे दादा परशुराम का नारा.,

 

जब तक है जीवित हम भगवा ही लहरायेंगे,
आखिरी साँस तक हम दादा परशुराम का गुणगान गायेंगे.,

 

दुनिया रचने वाले को भगवान कहते हैं,
और संकट जिगरा रखने वाले को पंडित कहते हैं.,

 

तेरे पापा से कह दे कभी हमारा इलाक़ा घुमकर देखें,
सिर्फ पंडित नाम ही काफ़ी है उनके जमाई का.,

 

“भाई” बोलने का हक़ मैंने सिर्फ दोस्तों को दिया है,
वरना दुश्मन तो आज भी पंडित के नाम से पहचानते हैं.,

 

हर किसी के हाथ में बिक जाने को तैयार नहीं है,
ये पंडित का दिल है तेरे शहर का अखब़ार नहीं.,

 

लोग कहते है की पंडित का भी समय आएगा,
मै कहता हूँ की पंडित समय मै खुद आएगा.,

 

शेरो के पुत्र शेर ही जाने जाते हॆ,
लाखो के बीच ब्राह्मण पहचाने जाते हॆ.,

 

Brahman Shayari

 

यू हर किसी के हाथों बिकने को तैयार नहीं,
ये गुर्जर का जिगर है तेरे शहर का अखबार नहीं.,

 

ब्राह्मण बदलते हैँ तो नतीजे बदल जाते हैँ,
सारे मंजर, सारे अंजाम बदल जाते हैँ,
कौन कहता है परशुराम फिर नहीं पैदा होते,
पैदा तो होते है बस नाम बदल जाते हैँ.,

 

कुछ दिन रुक जा मेडम ऐसा मुकाम बना देंगे,
70 लाख की ओडी पै जय परसुराम लिखा देंगे.,

 

अंगारे नहीं फौलाद है हम,
परशुराम की औलाद है हम,
ब्राह्मण वंश के हम चीते हैं,
जो खुद के जिगर पर जीते है.,

 

ब्राह्मण जो करते हैं उच्च कोटि का करते हैं,
फिर वो चाहे विकास हो या किसी का विनाश हो.,

 

Brahman Attitude Shayari

दोस्तों आइए अब आपको हम इस पोस्ट मे Brahman Attitude Shayari भी पढ़ाएंगे जो आपको और भी ज्यादा पसंद आने वाली है इस लिए अगर आप भी इस Brahman Shayari की Attitude वाली शायरी को पढ़ना चाहते हो तो इन सभी शायरी को पढे।

 

जब परशुराम का फरशा और,
बाजीराव की तलवार उठी है,
बिना पराजय वाली ब्राह्मणों का,
स्वर्णिम इतिहास लिखी गई हैं.,

 

शेरो के पुत्र शेर ही जाने जाते हैं,
लाखो के बीच ब्राहमण ही पहचाने जाते हैं.,

 

इब हाथ जोड के कहते हो बात का बखेडा ना करो,
हमने पहले ही कहा था हम पंडित हैं हमे छेडा ना करो.,

 

ब्लैक बुलेट पर ब्रामण चाले,
दुश्मन को दिल धक धक हाले.,

 

अंगारे नहीं फौलाद हैं हम,
परशुराम की औलाद हैं हम,
ब्राह्मण वंश के हम चीते हैं,
जो खुद के जिगर पर जीते हैं.,

 

Brahman Shayari

 

ब्राह्मण जो करते हैं उच्च कोटि का करते हैं,
फिर वो चाहे विकास हो या किसी का विनाश हो.,

 

चलता हूँ अपनी धुन में महादेव के गीत गाऊंगा,
ब्राह्मण बनकर आया हूँ दुबारा ब्राह्मण बनने ही आऊंगा.,

 

बड़े-बड़े स्वर्णिम अक्षरों में लिखा ब्राह्मणों का इतिहास हैं,
क्यों लेता तू पन्गा पंडितों से हमेशा उन्हीं का राज हैं.,

 

पाप-पुण्य की गठरी लाद क्यों हैं अपना बोझ बढ़ाया,
सुख-दुःख, लाभ-हानि में पंडित ने ही समानता पाया.,

 

पंडित भूखा तो सुदामा कहलाता हैं,
गर जो पंडित समझा चाणक्य बन जाता हैं,
रूठा जो पंडित तो परशुराम हो जाता हैं.,

 

शब्द की बिसात क्या, शब्द की अवकात क्या,
निःशब्द हैं वह पंडित की दूसरी पहचान क्या.,

 

ब्राह्मण ही प्रथम हैं ब्राह्मण ही अनंत हैं,
पंडित ही आरम्भ हैं ब्राह्मण ही अंत हैं,
ब्राह्मण प्रचंड हैं, करता जब कोई अधर्म हैं.,

 

यह ब्राह्मण एकम सेना,
ब्राह्मण दूना कोटि सेना,
जब-जब ब्राह्मण का खून खौले,
काँपे धरती का कोना-कोना.,

 

दुआ लफ़्ज़ों से नहीं दिल से होनी चाहिए क्योंकि,
ब्रामण उनकी भी सुनते हैं जो बोल नहीं पाते.,

 

कर्म की भूमि पर कर्मफल खिलते हैं,
किस्मत बुलंद हो तभी ब्राह्मण के घर जन्म मिलते हैं.,

 

 

मत कर इतना गुरुर दो दिन की जिंदगानी पर,
सिख कुछ तू पंडित से,
भयभीत नहीं होता जो मृत्यु के भी आने पर.,

 

जब फितरत में नशा ब्राह्मण का हैं,
तो रुतबे में गुरुर तो लाज़मी हैं.,

 

शतरंज की चालो से क्या उलझाएगा तू पंडित को,
शतरंज भी हमने पैदा किया टक्कर ना देना पंडित को.,

 

पंडित बुरी या दुनिया बुरी इसका फैसला हो ना सका,
और पंडित तो हो गया सबका लेकिन पंडित का कोई हो ना सका.,

 

मारी जूता जो सिकंदर को दिया युद्ध में हराय,

पंडित जात हैं उसका पुरे विश्व में सराहा जाये.,

 

देख भाई ब्राह्मण सिर्फ मंत्र ही नही मारते,

वक़्त आने पर हथियार चलाना भी जानते है.,

 

पंडित की चोटी उसकी शान होता है,

उंगली जब उस पर कोई उठाये,

  तो उसका अपमान होता है,

हद से अगर कोई गुजर जाए,

तो उसका आखरी टाइम होता है.,

 

जलने वालो से कह दो बुझना मेरा काम नही

जला कर राख ना कर दु पंडित मेरा नाम नही.,

 

ब्राह्मण भूखा रहे तो सुदामा भी बन सकता है,

समझाने मैं आया तो चाणक्य बन सकता है,

अगर रूठ गया तो पशुराम भी बन सकता है.,

 

इब हाथ जोड के कहते हो बात का बखेडा ना करो,
हमने पहले ही कहा था हम पंडित हैं हमे छेडा ना करो.,

 

ब्राह्मण बदलते हैं तो नतीजे बदल जाते हैं,
सारे मंजर सारे अंजाम बदल जाते हैं.,

 

ब परशुराम का फरशा और बाजीराव की तलवार उठी है,
बिना पराजय वाली ब्राह्मणों का स्वर्णिम इतिहास लिखी गई हैं.,

 

 

झुकता नहीं कभी, तू क्या झुकाएगा,
ब्राह्मणत्व एक आग हैं भड़कता ही जाएगा.,

 

शेर कि सवारी और पंडित कि यारी,
किस्मत वालो को नसीब होती हैं.,

 

ब्राह्मण जब चाहे किसी का शनि ख़राब कर दे,
ब्राह्मण जब चाहे राहु चढ़ा दे जब चाहे शनि सही कर दे.,

 

पाप-पुण्य की गठरी लाद क्यों हैं अपना बोझ बढ़ाया,
सुख-दुःख, लाभ-हानि में पंडित ने ही समानता पाया.,

 

दिखे ना जो नयनो से ज्ञानचक्षु से उसने उसे देखा हैं,
मानव कल्याण के लिए वह ब्राह्मण रात भर नहीं सोता हैं.,

 

हम ब्राह्मण शांत हैं तो श्री राम हैं,
भड़के तो फरसाधारी परशुराम हैं.,

 

कर्म की भूमि पर कर्मफल खिलते हैं,
किस्मत बुलंद हो तभी ब्राह्मण के घर जन्म मिलते हैं.,

 

मत कर इतना गुरुर दो दिन की जिंदगानी पर सिख कुछ,
तू पंडित से भयभीत नहीं होता जो मृत्यु के भी आने पर.,

 

जलते हैं तो जलने दो बुझाना हमारा काम नहीं,
जलाकर जो राख ना कर दू तो ब्राह्मण मेरा नाम नहीं.,

 

जब फितरत में नशा ब्राह्मण का हैं,
तो रुतबे में गुरुर तो लाज़मी हैं.,

 

इतना आशीर्वाद तेरे पूर्वजो ने तुझे नहीं दिए होंगे,
उससे ज्यादा आशीर्वाद तो ब्राह्मण तुझे देता हैं.,

 

शेरो के पुत्र शेर ही जाने जाते हैं,
लाखो के बीच ब्राहमण ही पहचाने जाते हैं.,

 

पंडित की यारी जोहे दुनिया सारी करें,
जो शेर की सवारी महाकाल का हैं वो कट्टर पुजारी.,

 

पंडित का तीन काम- शिक्षा, दीक्षा और भिक्षा,
फेल कर दे ब्राह्मण को नहीं हैं कोई ऐसी परीक्षा.,

 

पंडित जिस दिन बिगड़ गये इतिहास पुराना खोलेंगे,
धाक हमारी देखकर गुँगे भी ज़य ज़य ब्राह्मण बोलेगे.,

 

पंडित से जलते सभी हैं लेकिन यह सच हैं,
की पंडित जैसा बनने को ललचते भी सभी हैं.,

 

फोर्ड, बुलट और राइफल, शान है ब्राह्मण की,
लोहे बरगी यारी असली जान है ब्राह्मण की.,

 

बड़े-बड़े स्वर्णिम अक्षरों में लिखा ब्राह्मणों का इतिहास हैं,
क्यों लेता तू पन्गा पंडितों से हमेशा उन्हीं का राज हैं.,

 

हम ऊंची आवाज सिर्फ गानो की सुनते हैं,
किसी के बाप की नहीं.,

 

थर-थर काँपे धरती डोले बड़ा-बड़ा दरबार,
आसमान में गूंजे जब ब्राह्मण का जयकार.,

 

झुकता नहीं कभी, तू क्या झुकाएगा,
ब्राह्मणत्व एक आग हैं भड़कता ही जाएगा.,


Reed More :- Gulab shayari in Hindi 2021 | गुलाब शायरी

 

Conclusion

यही सभी Brahman Shayari आप सभी को काफी पसंद आई होंगी अगर नहीं तो आप हमे कमेन्ट मे बताए हम अपने अगले पोस्ट व  Hindi Shayari मे कुछ अच्छा सुधार करेंगे।

Saturday, October 2, 2021

50+ Ravan Sayari | ravan status shayari | ravan shayari hindi

 50+ Ravan Sayari | ravan status shayari | ravan shayari hindi


hello guys AAj hum Log is Blog me Baat krne Wale hai Ravan status shayari, ravan shayari, ravan funny shayari, ravan shayari hindi, best shayari on ravan .


Ummid karta hu Doston Aap logon ko Ravan status shayariravan shayariravan funny shayariravan shayari hindibest shayari on ravan  Pasand Aayegi. Agar Aapko shayari pasand Aaye to please Apne friends ke Share Kare Taki Vo bi Ravan Shayri pad Sake. Dhanyawaad.


Ravan Sayari


महाकाल भक्त वह
जिसकी शक्ति अखंड था
काल भी जिसका दास था
वह त्रिलोक विजयी रावण ज्ञानी और प्रचंड था।

बे ढंग शिव तांडव सा हूँ
मेरी माँ की आशीर्वाद से मैं थोडा दानव सा हूँ,
जब दर्द में भी चीख चीख मैंने तांडव किया,
तब महाकाल ने मेरा नाम रावण दिया।

हाँ मैंने बुराई को जन्म दिया था
हाँ मैंने अपनी ताकत पर घमंड किया…
तुम मुझे एक नहीं हजार बार जला दो
अरे छोड़ो मुझ रावण की बातें ,
थोडा सा सही तुम, मुझे राम बन कर दिखा दो।

मेघनाथ के लिए मैंने
सरे ग्रहों को 11 वे स्थान पर बैठाया था
मुझ रावण ने यमराज और शनि को
अपना बंदी बनाया था।

सोचो तुमने अभी तक क्या किया और
आगे क्या कर पाओगे,
राम बनाना तो दूर तुम
रावण भी नहीं बन पाओगे।

Ravan-Sayari
Ravan Sayari



ravan status shayari

जमी धुल मेरे नाम से हट जाएगी
जब मेरे वक्त की आधी चल जाएगी
ये जो आज नफरत नफरत करते है,
ये भी आज रावण रंग में रंग जायेगे
एक वक्त बाद ये भी भीड़ का हिस्सा बन जायेगे।

रावण की जिंदगी ने हमें
एक बात यह भी सिखाई
छुपा के रखना अपने राज हर किसी से
चाहे वो अपने दोस्त हो या भाई।

रावण है हम यह साम्राज्य
अपने दम पर कमाए है,
और धमंड है अपनी ताकत का जो
जो हमने अपने तप से पाए है।

बुरा हमे सिर्फ हमारे हालात बनाते है
अनजाने में ही सही पर
वो आज भी #हमारी बात करते है,
कुछ वक्त पहले इस नाम से नफरत थी उन्हें,
और आज वो पागल बैठ के
#रावण नाम का जाप करते है।

उन्हें बात दु मेरे पूतले जलने से क्या होगा
हर तरफ राख और धुआ होगा।
झाक कर देख गिरेबान में अपने जरा,
यह रावण तुझसे अच्छा कई गुना होगा।

ravan-status-shayari
ravan status shayari


ravan shayari hindi


क्यू सतयुग से लेकर आज कलयुग तक
बार-बार सीता को अग्निपरीक्षा से गुजरना पड़ता है,
कभी अपनो में तो कभी परायों में
उसे खुद को साबित करना पड़ता है।

की हा किया मैंने गलत एक औरत की इज्ज्जत
के लिए दुसरी को उठा लाया था,
तो बता दू आपको राम ने सीता जी को
कुरान सा साफ और गीता सा पाक ही पाया था।

 हा मैं घमंडी हा मैं पापी
हा मैं ताकत का प्रतिक हूँ।
और मैं वही दशानन जिद्दी
और थोडा सा ढीठ हूँ…
सुन लो सारी दुनियां वालो
तुम राम बन जाओ
मैं रावण ही ठीक हूँ।

रावण है हम यह साम्राज्य
अपने दम पर कमाए है
और धमंड है अपनी ताकत का जो
जो हमने अपने तप से पाए है

राम तुम्हारे युग का रावण अच्छा था
दस के दस चेहरे सब “बाहर” रखता था
क्यों ना आज अपने ही भीतर झांका जाय
एक तीर अंदर के रावण पर भी चलाया जाय

ravan-shayari-hindi
ravan shayari hindi


Best Shayari on Ravan

जो बहन के लिए भगवान से लड़ जाए
जो सीता को पवित्र लौटाए
जो राक्षस होकर भी विद्वान कहलाए
वो रावण आज किसी मे न नजर आए

रावण दहन का हमें हक नहीं,
क्योकि हमें उतना ज्ञान नहीं,
परस्त्री हरण कर माता रूपी सम्मान दिया,
उतनी हममे मर्यादा नहीं

रावण की जिंदगी ने हमें
एक बात यह भी सिखाई
छुपा के रखना अपने राज हर किसी से
चाहे वो अपने दोस्त हो या भाई

महाकाल के दिये इस नाम को
कोई कैसे मिटा सकता है
ना रावण कभी हरा था न कभी हार सकता है

अपने झूठे अभिमान का सम्मान
लोग सतायुग्ग से करते आ रहे है
जो खुद अपने हाथों से इज्जत उतारते है
वो खड़े होकर मेरे #पुतले जला रहे है

Best-Shayari-on-Ravan
Best Shayari on Ravan


Ravan funny shayari

सोचो तुमने अभी तक क्या किया और
आगे क्या कर पाओगे
राम बनाना तो दूर तुम
रावण भी नहीं बन पाओगे


लाश तो जला दी मेरी,
दिल से निकालो तो जानूँ..
आप में था
आप में हूँ
आपमें रहूँगा..
आपका रावण!!



रावण को अदालत में
गीता पर हाथ रखने को कहा गया…
उसने मना कर दिया और बोला:-
.
.
सीता पर हाथ रख कर इतनी मुसीबत आयी!
अब गीता… नहीं! 😜



सिर्फ जोधपुर में रावण को जमाई मानते हैं,
कियूंकि मंदोदरी जोधपुर की थी,
बाकी सब जगह जमाई को ही रावण मानते हैं!
😂😂😂



जैसे ही रावण मरता है..
दशहरा मैदान से लोग तो ऐसे भागते हैं,
.
.
जैसे रावण के मर्डर का केस उन पर ना आ जाए!
😜😜😜😜😜



जलते हुए रावण ने भीड़ से पूछा:-
सालो! तुम्हारी बीबी तो नहीं उठाई थी जो
हर साल जलाने आ जाते हो…
भीड़ में एक आदमी बोला:-
.
.
हमारी नहीं उठायी थी… इसलिए ही तो जलाते हैं!

Ravan-funny-shayari
Ravan funny shayari


Photography

[Photography][recentbylabel2]

Anime

[Anime][recentbylabel2]
Notification
This is just an example, you can fill it later with your own note.
Done